स्कूल खोलने पर असमंजस में शिक्षक, BSA को पत्र देकर डीएम की गाइड लाइन का हवाला दिया

स्कूल खोलने पर असमंजस में शिक्षक, BSA को पत्र देकर डीएम की गाइड लाइन का हवाला दिया

स्कूल खोलने पर असमंजस में शिक्षक, BSA को पत्र देकर डीएम की गाइड लाइन का हवाला दिया
कानपुर देहात। स्कूल खोलने को लेकर शिक्षकों में असंमजस की स्थित है। शिक्षकों ने बीएसए से स्पष्ट आदेश जारी करने की मांग की है। शिक्षक नेताओं ने गुरुवार को बीएसए को पत्र सौंपकर कहा कि डीएम के आदेश हैं 31 जुलाई तक स्कूल बंद रहेंगे। पहले की तरह ऑनलाइन शिक्षण कार्य किया जाएगा। जूनियर शिक्षक संघ के अशोक सिंह राजावत, राहत, अली, संजय सचान ने बीएसए सुनील दत्त को पत्र देकर कहा कि अनलॉक टू में डीएम की ओर से जारी गाइडलाइन में स्कूलों को 31 जुलाई तक बंद रखने के निर्देश हैं। ऐसे में स्कूल खोलने पर डीएम के निर्देशों की अवहेलना होगी। बीएसएफ की तरफ से मौखिक रूप से स्कूल खोलने के लिए कहा जा रहा है। शिक्षकों ने बीएसए से मांग की है कि स्पष्ट रूप से लिखित आदेश जारी करें। शिक्षक नेताओं ने कहा कि बच्चों के बिना स्कूल में शिक्षकों का कोई काम नहीं है। ऐसे में उन्हें छह घंटे बिना वजह बैठने की बात समझ में नहीं आती है। कई महिला शिक्षकों के छोटे बच्चे हैं। शिक्षकों ने कहा कि स्कूल में अभिलेखीय कोई काम नहीं है।

बीएसए को पत्र देकर डीएम की गाइड लाइन का हवाला दिया
जिलाधिकारी की गाइड लाइन के बारे में कोई जानकारी नहीं है। स्कूल खुले रहेंगे। शिक्षकों को आना है। बच्चों को अभी स्कूल नहीं आना है। शिक्षकों को शिक्षा विभाग की कई योजनाओं के काम करने हैं।
-सुनील दत्त, बीएसए

Post a comment

0 Comments