दो शिक्षक भर्तियों के बीच फंसे एलटी ग्रेड अभ्यर्थी, किसी न किसी बहाने से टलता रहा रिजल्ट

दो शिक्षक भर्तियों के बीच फंसे एलटी ग्रेड अभ्यर्थी, किसी न किसी बहाने से टलता रहा रिजल्ट

परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69 हजार शिक्षक भर्ती का रिजल्ट आने के बाद एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी नई समस्या से घिर गए हैं। एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के दो सबसे प्रमुख विषयों का परिणाम अटका है आ है और इस भर्ती के तमाम अभ्यर्थियों का चयन 69 हजार शिक्षक भर्ती में हो गया है। दूसरी ओर एलटी ग्रेड के रिजल्ट को लेकर ऊहापोह की स्थिति है। अभ्यर्थी मांग कर रहे हैं कि 69 हजार शिक्षक भर्ती की काउंसलिंग से पहले एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के तहत हिंदी और सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट जारी किया जाए।
69 हजार शिक्षक भर्ती में काउंसलिंग के दौरान मूल मार्कशीट जमा कर ली जाती हैं और सत्यापन के बाद मार्कशीट वापस होती है। इस प्रक्रिया में तकरीबन छह माह का वक्‍त लगता है। अगर इसी बीच उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के तहत हिंदी और सामाजिक विज्ञान विषय का रिजल्ट जारी कर देता है तो 69 हजार शिक्षक भर्ती में ज्वाइन कर चुके अभ्यर्थी एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती को ही प्राथमिकता देंगे लेकिन अभिलेख सत्यापन के दौरान उन्हें दिककत होगी।

एलटी समर्थक मोर्चा के विक्की खान और अनिल उपाध्याय का कहना है कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग को हिंदी और सामाजिक विज्ञान विषय में तीन हजार से अधिक पदों पर भर्ती के लिए लंबित परिणाम शीघ्र जारी कर देनाचाहिए, ताकि 69 हजार शिक्षक भर्ती और एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों के लिए चयन के अबसर बढ़ सकें।
किसी न किसी बहाने से टलता रहा रिजल्ट : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के तहत हिंदी और सामाजिक विज्ञान विषय
का रिजल्ट किसी न किसी बहाने से टाला जाता रहा। एलटी समर्थक मोर्चा के प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय का कहना है कि हिंदी और सामाजिक विज्ञान विषय में पेपर लीक प्रकरण को लेकर 94 दिनों तक केस डायरी का बहाना बनाकर रिजल्ट टाला जाता रहा।