Header Ads

DA (महंगाई भत्ता) बढ़ने से जानिए अब कितनी बढ़ जाएगी सैलरी

 DA (महंगाई भत्ता) बढ़ने से जानिए अब कितनी बढ़ जाएगी सैलरी

केंद्र सरकार ने करीब 1.2 करोड़ केंद्रीय कर्मचारियों, पेंशनर्स को आज बड़ी राहत दी है. आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 17 से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया है. पेंशनर्स के लिए डियरनेस रिलीफ (DR) की बहाली करने का भी निर्णय लिया गया है. यह 1 जुलाई, 2021 से लागू होगा.


पिछले महीनों पर नहीं लागू होगी
पिछले महीनों पर नहीं लागू होगी: केंद्र सरकार के कर्मचारियों की डीए की तीन किस्तें मिलनी बाकी थीं. कोरोना महामारी के कारण सरकार ने डीए पर रोक लगा दी थी. इसी तरह पेंशनर्स के डीआर की किस्तों का भुगतान भी नहीं हुआ. कर्मचारियों और पेंशनर्स का 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 का डीए और डीआर पेंडिंग है. लेकिन सरकार ने कहा है कि बढ़ी हुई दर जुलाई 2021 से लागू होगी और पिछले बकाया पर यह लागू नहीं होगा. यानी आज की डेट से आगे के लिए 28 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता दे दिया जाएगा. (फाइल फोटो:  

महंगाई भत्ता (डीए) देने का निर्णय 
अब केंद्र सरकार ने अपने 48 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनधारियों को 28 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता (डीए) देने का निर्णय लिया है. सरकार, डीए (Dearness Allowance) की बढ़ी हुई राशि यानी 28 फीसदी के हिसाब से कर्मियों के खाते में डालेगी. (फाइल फोटो: Getty Images)  


छह महीने की महंगाई का औसत 
क्यों मिलता है महंगाई भत्ता (DA): हाल के महीनों में सब्जियों से लेकर तेल तक तमाम सामान की महंगाई काफी बढ़ी है. केंद्रीय कर्मचारी व पेंशनधारक पर लगातार बढ़ती महंगाई का बोझ ना पड़े, इसके लिए महंगाई भत्ता दिया जाता है. आम तौर पर यह एक साल में दो बार (जनवरी से जून तक और फिर जुलाई से दिसंबर तक) दिया जाता है. केंद्र सरकार महंगाई भत्ता छह महीने के महंगाई का औसत अनुमान पर तय करती है. (फाइल फोटो)  

फिटमेंट फैक्टर के आधार पर वेतन 
कितनी बढ़ेगी सैलरी: केंद्रीय कर्मचारियों के डीए में सीधे 11 फीसद की बढ़ोतरी हो रही है. इससे उनके वेतन में अच्छी बढ़त हो जाएगी. सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) के अनुसार अब कर्मचारियों के वेतन के लिए एक फॉर्मूला है, जिसे फिटमेंट फैक्टर कहा जाता है. इसी फिटमेंट फैक्टर के आधार पर वेतन का निर्धारण होता है.   


ऐसे होता है कैलकुलेशन 
फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 है. किससी कर्मचारी का वेतन कैलकुलेट करने के लिए डीए, टीए (ट्रैवल अलाउंस), और घर किराया (HRA) को छोड़कर बेसिक वेतन को 2.57 से गुणा किया जाता है. मान लीजिए, किसी का बेसिक वेतन 18,000 रुपये है तो भत्ते को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57 = 46,260 रुपये होगी.

एचआर और मेडिकल अलाउंस जुड़ेगा
इसके बाद इसमें महंगाई भत्ता, मेडिकल भत्ता आदि जुड़ता है. 18,000 बेसिक वेतन पर अगर पहले 17 फीसदी के मुताबिक  महंगाई भत्ता 3,060 रुपये मिल रहा था, तो अब 28 फीसदी के हिसाब से उसे महंगाई भत्ता 5,040 रुपये मिलेगा. यानी उसके वेतन में कम से कम 1980 रुपये की बढ़त तो होगी ही. इसके बाद इसमें एचआर और मेडिकल अलाउंस जुड़ेगा. डीए के आधार पर ही कर्मचारियों का HRA और मेडिकल खर्च भी तय होता है.


इस गणना के अनुसार, अब 18,000 रुपये बेसिक सैलरी पाने वाले कर्मचारी को महंगाई भत्ते के रूप में महीने के 5040 रुपये और साल के 60,480 रुपये मिलेंगे। अभी 17 फीसद डीए के हिसाब से कर्मचारी को 3060 रुपये महीने महंगाई भत्ते मिलता है, जो साल भर का 36,720 रुपये है। इस हिसाब से DA Hike के कारण इस कर्मचारी को महीने के 1980 रुपये और साल के हिसाब से 23,760 रुपये ज्‍यादा प्राप्त होंगे।

यह है गणित

Level 1 Basic pay = 18000 रुपए

28% DA = 5040 रुपए महीना

Yearly DA = 60,480 रुपए




No comments