Header Ads

अब खुद बीएसए करेंगे स्कूलों में हुए कार्यों की जांच

 अब खुद बीएसए करेंगे स्कूलों में हुए कार्यों की जांच

बिजनौर। शासन ने जिलाधिकारी को प्रशासकों के कार्यकाल में लॉकडाउन के दौरान सरकारी स्कूलों में टाइल्स कार्य में बरती गई अनियमितताओं की जांच कराने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को इस मामले की जांच सौंपते हुए उन्हें आख्या रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। नजीबाबाद निवासी आरटीआई कार्यकर्ता मनोज शर्मा की ओर से प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजे प्रार्थना  पत्र में बताया गया कि जनपद बिजनौर के ब्लॉक मोहम्मदपुर देवमल की कई ग्राम पंचायतों में प्रशासकों के कार्यकाल में जो धनराशि खर्च की गई है, उनमें काफी अनियमितताएं बरती गई हैं। लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद होने के बावजूद लाखों रुपये के टाइल्स कार्य कराये गए, जबकि शासन के स्पष्ट निर्देश थे कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान धन का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए, लेकिन शौचालय तथा स्कूलों के कमरों आदि में टाइल्स लगवाना दिखाकर लाखों रुपये की धनराशि निकाली गई।
 




नजीबाबाद के आरटीआई कार्यकर्ताने प्रधानमंत्री से की थी शिकायत शिकायतकर्ता का कहना है कि इस संबंध में उनके द्वारा जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत की गई तो मोहम्मदपुर देवमल के कई अधिकारियों ने जांच के नाम पर उन्हें हे मराह किया। है कि सही प्रकार से जांच नहीं की गई। यह भी जानने की कोशिश नहीं की गई कि जो कार्य स्कूलों में लॉकडाउन के दौरान ग्राम पंचायत में कार्य कराये गए हैं, वे सही हैं अथवा गलत। जिन कार्यों के लिए धनराशि आहरित की गई है, वे कार्य हुए भी हैं या नहीं। शिकायतकर्ता ने बाद में प्रधानमंत्री कार्यालय को अवगत कराया जिस पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को इस संबंध में कार्वाई के आदेश दिए। मुख्यमंत्री कार्यालय से इसकी जांच जिलाधिकारी बिजनौर को आई जिलाधिकारी बिजनौर ने ब्लॉक मोहम्मदपुर देवमल के सरकारी स्कूलों में प्रशासकों के कार्यकाल में हुए टाइल्स कार्यों की जांच के निर्देश बेसिक शिक्षा अधिकारी बिजनौर को दिए हैं।

No comments