रोजगार देने वाले तैयार करेगी नई शिक्षा नीति: बोले पीएम नरेंद्र मोदी

रोजगार देने वाले तैयार करेगी नई शिक्षा नीति: बोले पीएम नरेंद्र मोदी


वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति का जोर रोजगार मांगने वालों की जगह रोजगार देने वालों को तैयार करना है। इसके जरिए शिक्षा व्यवस्था में व्यवस्थित बदलाव लाने का प्रयास किया गया है। इससे आने वाले समय में नवाचार को और बढ़ावा मिलेगा।

प्रधानमंत्री शनिवार को स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन-2020 के ग्रैंड फिनाले को आनलाइन संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति यह सुनिश्चित करेगी कि छात्र जो सीखना चाहता है पूरा ध्यान उसी पर हो। उन्होंने उम्मीद जताई कि युवा देश को आगे बढ़ाने के लिए नए इनोवेशन करेंगे। उन्होंने छात्रों से कहा कि गरीबों को बेहतर जीवन देने के लिए ‘जीवन की सुगमता’ का लक्ष्य हासिल करने में युवा वर्ग की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।

हर चुनौती का मुकाबला कर सकेंगे युवा : प्रधानमंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति 21वीं सदी के नौजवानों की सोच, उनकी जरूरतों को देखते हुए बनाई गई है। देश के छात्रों के लिए शिक्षा व्यवस्था को सबसे अधिक अग्रिम और आधुनिक बनाने का प्रयास किया गया है। इसके जरिए यह प्रयास किया गया है कि युवा प्रतिभाओं को अवसर मिले और वो हर चुनौती का मुकाबले करने के लिए तैयार हों।

युवा प्रतिभाओं को पीएम ने सराहा: प्रधानमंत्री ने देश के कोने-कोने में युवाओं की ओर से हो रहे इनावेशन को सराहा। उन्होंने केरल के एर्नाकुलम के एमजीएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी केंद्र पर मौजूद छात्र जगन्नाथ व जयपुर के जेइसीआरसी की वंशिका शर्मा से बात कर उनकी सराहना भी की।

’ स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन-2020 के ग्रैंड फिनाले में प्रधानमंत्री ने युवाओं को किया संबोधित

’ कहा, शिक्षा व्यवस्था को युवाओं की सोच और उनकी जरूरत के मुताबिक बनाने का प्रयास

वाराणसी: स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2020 के आयोजन में देश भर के युवाओं को संबोधित करते पीएम नरेंद्र मोदी ’ बीएचयू

21 वीं सदी ज्ञान का युग है। यह सीखने, अनुसंधान, नवाचार पर ध्यान केंद्रित करने का समय है। भारत की राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 भी इसी पर जोर देती है। हम भारत में शिक्षा की गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

Post a comment

0 Comments