शिफ्ट में चलाए जाएंगे उप्र के कॉलेज : डॉ दिनेश शर्मा

शिफ्ट में चलाए जाएंगे उप्र के कॉलेज : डॉ दिनेश शर्मा


नोएडा : कोविड-19 ने शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा और बुरा दोनों तरह का प्रभाव डाला है। एक ओर यह हमारी शिक्षा प्रणाली को ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लेकर आया है तो दूसरी ओर परीक्षाएं रुकने से बच्चों को काफी नुकसान भी हुआ है। उत्तर प्रदेश में ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के साथ ही स्थिति सामान्य होने पर कॉलेजों को शिफ्ट में खोलने पर विचार किया जा रहा है। यह व्यवस्था सिर्फ कुछ दिन ही नहीं बल्कि भविष्य की शिक्षा प्रणाली को बदलने वाली हो सकती है, यह कहना है उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा।

डॉ शर्मा सोमवार को ’कोविड- 19 के दौरान उत्तर प्रदेश में शिक्षा की स्थिति और योजना’ के विषय पर पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में बतौर मुख्य अतिथि लोगों को संबोधित कर रहे थे। मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद उच्च शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव मोनिका एस गर्ग ने कहा कि आने वाले समय में हम कॉलेजों को शिफ्ट में चला सकते हैं, जिसमें एक सप्ताह में एक ही सेमेस्टर के विद्यार्थी बुलाए जाएं। तीन समूह बनाए जाएं, जिसमें शारीरिक दूरी और सैनिटाइजेशन के नियमों का पालन करते हुए बच्चों को क्लासरूम में पढ़ाया जा सके। आने वाले समय में डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देते हुए किताबों के बजाय टैबलेट को अहमियत दी जाएगी, डिजिटल लाइब्रेरी खुले जिसमें किताबों की जगह टैबलेट जारी किए जाएं। माध्यमिक शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव अराधना शुक्ला ने कहा कि केंद्रीय शिक्षा संस्थानों पर जो ऑनलाइन सामग्री तैयार की जा रही वह ज्यादातर अंग्रेजी में है और हमारे बच्चे ज्यादातर हंिदूी भाषा में ही लिखते और पढ़ते हैं।

Post a comment

0 Comments