69000 शिक्षक भर्ती सुप्रीम कोर्ट लाइव अपडेट:- सुनवाई की पल-पल की अपडेट

69000 शिक्षक भर्ती सुप्रीम कोर्ट लाइव अपडेट:- सुनवाई की पल-पल की अपडेट


केस विवरण
Court Number-05
👉S.no. 301 SLP(C) 6841-2020 RAM SHARAN MAURYA AND ORS.
👉कोर्ट बैठ चुकी है, sr no. 15 नंबर सुना जा रहा है।
👉 केस शुरू, सुनवाई प्रारम्भ।
👉जज साहब के द्वारा मामले को आज खत्म करने के लिए बोला गया
👉पटवालिया सर बहस कर रहे है
👉शिक्षामित्र पक्ष को 14:45 तक खत्म करने के लिए कहा गया..
👉राजीव धवन शुरू
👉2:45 तक शिक्षामित्रों के वकील रखेगे अपना पक्ष।
👉जज साहब ने साफ साफ स्पष्ट निर्देश दिया है कि अभी पेटीशनर्स मतलब शिक्षामित्र 2:45 तक बोलेंगे उसके बाद रेस्पोंडेंट मतलब बीएड बीटीसी का नंबर आएगा धैर्य बनाए रखें।
👉राकेश जी शुरू।
👉रूल 2X पर चर्चा कर रहे है द्विवेदी सर
👉सर्वेश टीम के दोनों सीनियर वेंक्टरमनी सर और पल्लव सिसोदिया सर उपस्थित।
👉द्विवेदी जी कह रहे है 1.37 लाख के पहले भाग में 40/45 कटऑफ था इसबार कोई कटऑफ नही था तो  SM ने पिछली बार की तरह ही तैयारी करी!
👉बी. एड टीम की तरफ से मोना मैडम बोल रही है अब
👉अब धवन सर शिक्षामित्रों को मिले दो मौके और भारांक के विषय मे जज साहब को अवगत करा रहे है
👉राजीव धवन सर की बहस जारी है । काउन्टर के पैरा नम्बर 15 के सम्बंध में कोर्ट को सूचित कर रहे हैं ।
👉भारांक वाला मुद्दा पूरा कन्फर्म है जज साहब को ।
खुद ही बता रहे कि 25 अंक हर हाल में सबको मिलना है क्योंकि 10 साल सबकी सर्विस हो चुकी है।
👉कटऑफ Increase करने से आपके द्वारा दिये गए भारांक को पाने से वंचित रह जाएंगे शिक्षामित्र :- राजीव धवन सर ।
👉लास्ट प्वाइंट मीलॉर्ड- धवन
👉राजीव धवन सर से ललित सर का प्रश्न यदि आप सिंगल जज का आर्डर चाहते हैं फॉलो होना चाहिए तब तो बीएड भी स्वतः allow है ।
👉कटऑफ बढ़ने से आपके द्वारा दिये गए भारांक को पाने से वंचित रह जाएंगे शिक्षामित्र :- राजीव धवन सर ।
👉राजीव धवन सर ने अपना आर्गुमेंट Withdraw करने की पेशकश की । सिंगल बेंच का आदेश फॉलो करने का स्टेटमेंट as सबमिशन दिया था ।।
👉उनका स्टेटमेंट खुद ही राकेश द्विवेदी और पटवालिया सर के आर्गुमेंट से mismatch हो रहा था ।
👉ललित सर®- धवन जी आपका भी सब्मिशन यही है कि बी एड इस भर्ती हेतु वैध नही अगर यही है तो इसे नोट कर लिया गया है सेम आर्गुमेंट पटवालिया जी और द्विवेदी जी कर चुके है।
👉राजीव धवन सर की बहस पूर्ण, सुन्दरम सर थोड़ा सा समय लेकर अपनी बात आंकड़ो के सम्बंध में क्लियर कर रहे हैं ।।
👉C.A. सुंदरम सर ने बोलना प्रारंभ किया.
👉सुंदरम सर की बात भी खत्म हुई
👉निदेश गुप्ता सर ने बोलना प्रारभं किया और इसी के साथ जज साहब ने लंच कर दिया।
👉निधेश गुप्ता (Sr एडवोकेट) रख रहे थे पक्ष । लंच की घोषणा हुई है । 2 बजे से पुनः कोर्ट बैठेगी ।।
 जानिए अब तक क्या हुआ 
👇👇👇👇👇
⭕राकेश द्विवेदी ने कहा कि 1.37 लाख के पहले भाग में 40/45 कटऑफ था इसबार कोई कटऑफ नही था तो  शिक्षा मित्रों ने पिछली बार की तरह ही तैयारी करी
⭕राजीव धवन ने कहा कि परीक्षा को लेकर जो भी अमेंडमेंट किया गया वो सीधे तौर पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ है
⭕धवन ने कहा कि पैरा 33 में साफ लिखा है कि  अगर कोई अभ्यर्थी टेस्ट पास किया है तो पद के लिए चुना  जाएंगे
⭕धवन ने कहा कि 28 अमेंडमेंट में कहा गया कि 2.5 अंक का वेटेज दिया जाएगा
⭕SC ने कहा कि जिन शिक्षा मित्रों की 10 साल की सर्विस हो चुकी है उनकी 25 अंक मिलना चहिए
⭕धवन ने कहा कि अगर कटऑफ को बढ़ा दिया गया तो SC का  शिक्षा मित्रों को वेटेज देने वाला आदेश लागू नही हो पाएगा
👉लंच के बाद सुनवाई...शुरू
👉निर्देष गुप्ता बहस कर रह है ।
👉ट्रेनी टीचर, बीएड पर बहस
👉ट्रेनी टीचर, B.Ed मुद्दा और 23वें संशोधन पर बहस कर रहे हैं निर्देश गुप्ता
👉निधेस सर के सबमिशन :-
1 राज्य सरकार ने कटऑफ हाई रखा है ।
2 बीएड को अभी 6 माह की ट्रेनिंग दी जानी शेष है इसलिए अभ्यर्थियों के संख्या के आधार पर कटऑफ बढ़ाना अनुचित ।क्रमशः........
👉रमणी सर ध्यान से सुन रहे है हर मुद्दे को
👉बीएड को ncte ने allow किया है - जज साहब
👉ITEM 302 पर V शेखर सर अब पक्ष रख रहे हैं EX सर्विसमैन का ।
👉एक्स सर्विस मेन के लिए बोल रहे है शेखर सर
👉शेखर जी की बहस खत्म,
👉गुरु कृष्ण कुमार जी शुरू।
👉गुरु कृष्णकुमार सर नेचर ऑफ एग्जाम पर बहस कर रहे हैं ।प्रश्न की कठिनाई इसपर निर्भर करती है कि उसका जवाब दिया गया या नहीं ।
👉पैरा 94 के हिसाब से गेम का रूल चेंज नही हो सकता - कृष्ण कुमार सर
👉केवल एग्जाम पैटर्न के हिसाब से कटऑफ नही बढ़ाया जा सकता -  कृष्ण सर
👉मीनाक्षी अरोड़ा mam रखेंगी पक्ष । ललित सर ने दिनेश द्विवेदी सर को रोक दिया है थोड़ी देर के लिए। 2 मिनट का समय प्रदान किया गया है ।
👉मीनाक्षी अरोड़ा शुरू
👉जज साहब पूछ रहे आपने पहले बी.एड जो चैलेंज किया था - नहीं ( कृष्ण कुमार सर )
👉कृष्ण जी कंपलीट,SM की तरफ से अब मीनाक्षी अरोड़ा मैडम बोल रही है।
👉जज साहब ने अरोड़ा मैडम को 5 मिनट में अपनी बात खत्म करने को कहा।
👉मैडम कह रही स्टेट ने एलिजिबिलिटी टेस्ट को क्वालीफाइंग टेस्ट में बदल दिया
👉तो एग्जाम में SM को भारांक मिलना मुश्किल हो गया है क्योंकि वो इस क्वालीफाइंग मार्क्स को क्वालीफाई करने में असमर्थ है!
👉10 वर्ष से पढ़ा रहे शिक्षामित्र और एक फ्रेश अभ्यर्थी के बीच 60/65 कटऑफ का मार्किंग सही नही है!
👉अरोड़ा जी की बहस समाप्त,दिनेश जी शुरू।
👉बिग ब्रेंकिंग:-----हरीश साल्वे जी भी जुड़ गए।
👉22 वे संशोधन पर वो अपना पक्ष रख रहे हैं दिनेश जी
👉रूल 8 पेज 145 कॉलम 1 और कॉलम 2 पर बोल रहे है
👉बी.एड टीम की तरफ  से हरीश साल्वे जुड़े हुए है और मुद्दे को ध्यान से सुन रहे है।
👉दिनेश द्विवेदी जी की बहस समाप्त ,केटीएस तुलसी जी शुरू..
👉तुलसी जी की बहस खत्म, तान्या अग्रवाल शुरू 2 मिनट बोलेंगी।
👉महत्वपूर्ण सूचना✍️उधर हाई कोर्ट में सीबीआई जांच व रद्द की डेट 6 अगस्त :- नूतन ठाकुर
👉07 जनवरी के ऑर्डर पर बहस कर रहीं तान्या 
👉1 दिसंबर 2018 और 7 जनवरी 2019 के जिओ पर पक्ष रख रही हैं।
👉तान्या अग्रवाल जी का सबमिशन पूर्ण ।
👉अब जयंत भूषण सर जज साहब के सामने पक्ष रख रहे है।SM का पक्ष
👉परीक्षा नही होनी चाहिए थी - भूषण
👉टाइम तो टाइम कट ऑफ लगाने का अधिकार है सरकार का पर इतना ज्यादा नही लगा सकते :- जयंत भूषण
👉जयंत भूषण की बहस खत्म।
👉I Think u have completed ur submission , anything else mr bhushan :-- Lalit Sir
👉कोई अग्रवाल जी आये है अभी
👉उसके बाद राजीव धवन का 1 point होगा ।
👉अग्रवाल का पूरा, धवन आ गए
👉धवन का खत्म
शिक्षामित्रों के वकीलों की बहस खत्म
👉 ररेस्पोंडेंट्स का शुरू
👉गौरव सर पक्ष रख रहे है अब। 
👉पहले सरकार को सुनेगे
👉 पेज 6 काउंटर का, काउंटर दे रही अभी
👉सरकार को सुना जा रहा भाटिया बोल रही हैं.सालवे सर ने बोला उनको अभी रोक दिया है की पहले स्टेट बोल ले।
👉भाटी मैडम रखेंगी स्टेट का पक्ष।
👉शिक्षामित्र मात्र सहायक अध्यापकों के सहयोगी के रूप में रखे जा रहे हैं ;- ASG MAM
👉शिक्षामित्र आज असिस्टेंट टीचर की तरह काम नहीं कर रहे हैं वह सिर्फ एक अनुबंध पर नियुक्त व्यक्ति हैं...
👉कुल शिक्षामित्रों की संख्या - 45K+
सफल :- 8000+ ASG MAM
👉मैडम काउंटर एफीडेविट पर डाटा बता रही जज साहब को।
👉3 लाख 94000 कुल अभ्यर्थियों की संख्या 40 45% पर है जो 96.2% है कुल आंकड़ो का :-ASG MAM
👉ATR -18 और ATR-19 में अंतर को डिफाइन कर रही है भाटी मैडम
👉अभ्यर्थियों की संख्या में बढोत्तरी के बाद कटऑफ बढ़ना स्वभाविक है :- ASG MAM
10,000 सीट प्रतिवर्ष रिटायरमेंट के आंकड़ा है।
👉क्या सरकार एक और रिक्रूटमेंट (भर्ती) के प्रति प्रतिबद्ध है :- ललित सर
ASG MAM :- YES MY लार्ड 💯
👉40-45 पर सभी sm भारांक के सहारे हो जाएंगे ऐसे तो -- जज साहब
👉 जज ललित सर पूछ रहे है 40/45 कटऑफ को पार करने वाले सभी 40 हजार शिक्षामित्र सलेक्ट होंगे और बाकी बचे 29 हजार पदों पर अन्य अभ्यर्थी - जी सर ( भाटी मैडम )
👉योग्यता के साथ कोई समझौता नहीं:- भाटी मैंम
👉भाटी मैंम®- हमारे पास 50 हजार पद है। और प्रति वर्ष 10,000 रिटायर हो रहे।
हम अलग से अगले भर्ती में मौका देने को तैयार है लेकिन योग्यता के साथ।
👉कट ऑफ पर जज साहब को संतुष्ट नही कर पा रही है भाटी मैडम ।
👉जज साहब ये पूछ रहे कि आपने रिज़ल्ट निकालने से पहले कैसे पता लगा लिया कि 60-65% ही उचित कट ऑफ रहेगा
👉40/45 कटऑफ पर 96 प्रतिशत से ऊपर लोग पास हो रहे है तो परीक्षा का औचित्य क्या रहा जज साहब - भाटी मैडम
👉बीएड पर सबमिशन मांग रहे सरकार से की बीएड पर आपका क्या पक्ष है।
👉एक बार फिर ऐश्वर्या भाटी  स्थिति को संभालते हुए, B.Ed पर सरकार का पक्ष रख रही है
👉शिक्षामित्रों को स्टेट द्वारा प्रदान की जा रही छूट से अवगत करा रही हैं ASG MAM,
👉तमाम मुद्दों पर जानकारी की कमी स्पष्ट झलक रही है । उम्मीद है इसकी भरपाई हम सभी पक्षकार मिलकर करेंगे.
👉ATR-18 लिखित और ATR 19 बहुविकल्पीय है -भाटी मैडम
👉TET का कटऑफ 55/60 होता है तो ATR-19 बहुविकल्पीय थी और 4 लाख लोग भागीदार बने इसलिए इसका कटऑफ को टेट के कटऑफ के सापेक्ष 5% बढ़ाकर 60/65% किया गया.
👉रूल 2X स्टेट को ये अधिकार देता है कि वो समय-समय पर कटऑफ लगा सकता है.
👉2007 का एक जजमेंट रख रही मैडम Union आफ इंडिया वर्सस विनोद कुमार
👉एग्जाम के बाद JPSC द्वारा कटऑफ लगाने से संबंधित झारखंड हाइकोर्ट का जजमेंट को बता रही है भाटी मैम
👉अंतिम चरण में है मैडम की बहस 
👉MCD वाला पढ़ रही अब, जो डबल बेंच में रखा गया था सबके द्वारा !
👉Cut ऑफ बाद लगाए गए आर्डर को भाटी मेम न्यायालय को दिखाते हुए.
👉भानुमती मैंम की बेंच का जजमेंट padh रही है ASG mam अपना final submission देते हुए.
👉Mam की बहस खत्म, सबमिशन पूरा हुआ।
👉सीनियर अधिवक्ता और जिसका सभी को इंतजार था साल्वे सर ने आर्गुमेंट शुरू किया.
👉हरीश साल्वे सर रख रहे हैं पक्ष आवाज क्लियर होजे में समस्या के कारण दोबारा से रिपीट करने के लिए कोर्ट ने निर्देशित किया है ।
👉जज साहब ने 60/65 के अन्य पक्षकारो को आज बोलने का 15 मिनट का मौका दिया है।
👉पिछली परीक्षा में सफल शिक्षामित्रों की संख्या से इस बार सफल शिक्षामित्रों की संख्या अधिक है इसलिए कटऑफ बढ़ने से सुनामी नहीं आ गई है, स्टेट ने कटऑफ सही लगाया है :- साल्वे सर
👉साल्वे सर नाम मुताबिक़ अच्छी व तगड़ी बहस कर रहे हैं।
👉RTE एक्ट पर बहस साल्वे जी द्वारा
👉साल्वे जी की बहस समाप्त, साल्वे सर का सबमिशन पूरा हुआ।
👉साल्वे जी की बहस समाप्त बीटीसी लीगल टीम के वेंकटरमणि सर शुरू
👉 रमणी सर की जबरदस्त बहस जारी है, जज  साहब ध्यान से सुनते हुए ।
👉रमणी जी की खत्म।
👉टीम के दूसरे अधिवक्ता पल्लव सिसोदिया शुरू.....।
👉सिसौदिया सर :- बिना कट ऑफ के रूल को चैलेंज किये ,कट ऑफ के अगेंस्ट नही जाया जा सकता..
👉विश्वनाथन सर शुरू
👉शार्ट बुलेट पॉइंट्स आपके सामने रखेंगे सर का ज्यादा समय नहीं खराब करेंगे :- विश्वनाथन सर
👉दिनेश द्विवेदी सर ने आधी बात ही कोर्ट के सामने रखी है मैं कोर्ट को अमेंडमेंट के सम्बंध में समस्त फैक्ट्स स्पष्ट कर दे रहा हूँ :- विश्वनाथन सर
👉आनंद यादव के केस में जो क्वालिफाइड नहीं थे उन्हें बाहर किया गया, अनुभव के आधार पर भारांक देने की बात की गई है :- विश्वनाथन सर
👉कुलभूषण मिश्रा केस का विवरण भी न्यायालय के सामने विश्वनाथन सर ने स्पष्ट किया कि किस तरह ATRE को पास करने के बाद ही भारांक मिलेगा भारांक देने के लिए कटऑफ को ही घटा दिया जाना अनुचित है :- विश्वनाथन सर
👉शॉर्टलिस्ट करने के लिए फिल्टर करने के लिए कटऑफ रखने के लिए exam कंडक्टिंग ऑथोरिटी फ्री हैंड है ।
👉बेहतर का सिलेक्शन हो यही हम सबकी मंशा होनी चाहिए :- विश्वनाथन सर
👉60% जब इसी परीक्षा का जुड़ना तय था फिर किसी अभ्यर्थी का बहाना करना कि कटऑफ पहले पता होता तो मेहनत ज्यादा करता अनुचित है । पता होता तो सबको होता नहीं पता था तो किसी को नहीं पता था :-विश्वनाथन सर
👉40- 45 केवल शिक्षामित्रों के लिए कर देना लाखो अभ्यर्थियो के भविष्य से खिलवाड़ होगा जो शिक्षामित्र नहीं है पर इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं :-विश्वनाथन सर
👉According to law सभी अपील को डिशमिश किया जाए :- विश्वनाथन सर
👉ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव पर बहस
👉AG साहब की एंट्री, राघवेंद्र सर
👉सिसोदिया सर को बार बार हस्तक्षेप करने से रोकते हुए बाला सुब्रमण्यम सर को अनुमति प्रदान की गई ।।
👉महाधिवक्ता राघवेन्द्र सर रख रहे हैं स्टेट का पक्ष । विश्वनाथन सर ने यह स्पष्ट किया है सेम चीज रख दी गई है जब % ऑफ मार्क्स जुड़ना तय था तो पहले पता होता ज्यादा मेहनत करते ऐसा सबमिशन अनुचित है ।
👉सभी अधिवक्ता अपना रिटेन सबमिशन other than सिंगल एंड डबल जजमेंट के अलावा दाखिल करना चाहें तो 3 दिन के भीतर दाखिल कर दें ।।
👉कोर्ट उठ गई .
👉69000 : SC Order Reserved

Post a comment

0 Comments