Breaking News

68500 Vacancy News LT 9342 News Shikshamitra News
Join Facebook Group Teacher Jobs Transfer News

Search This Blog

*प्रश्नों को डिलीट करने की बजाय उनको पुनरमूल्यांकित कर अंक देना ज्यादा बेहतर:HC*

*प्रश्नों को डिलीट करने की बजाय उनको पुनरमूल्यांकित कर अंक देना ज्यादा बेहतर:HC*

इलाहाबाद स्थित मा0 उच्च न्यायालय में आयोग के विरुद्ध कुछ अभ्यर्थियों ने न्यायालय की शरण ली। उन्होंने सिर्फ 2 प्रश्नों को चुनौती दी। सरकार के लाख दलीलों को काटते हुए उन्होंने 2 प्रश्नों को गलत सिद्ध करवा ही दिया।
⚖सरकार ने प्रश्नों को डिलीट करते हुए संसोधन करने की सिफारिश में कहा...
```counsel for the respondent-Commission to
inform the Court as to what would be the effect of directing re-evaluation
treating option-(d) as the correct answer of question No.94 of Series-A
Booklet of subject Law and also the effect of fresh preparation of the
result of Lecturer-Law after deleting question No.94 and then preparing
the merit list. there would be lesser disturbance in
getting a fresh result prepared by deleting question No.94 rather than re-
evaluating.```
(आयोग की तरफ से कहा गया कि आपत्तिजनक उत्तरों को डिलीट करते हुए नई मेरिट लिस्ट वनायी जाय क्योंकि दोबारा सभी को न0 देने के अपेक्षा इसको डिलीट करने में ज्यादा आसानी होगी।)
*🕹उपरोक्त सबमिशन को कोर्ट ने ये कहते हुए दरकिनार कर दिया कि....*
``` Merely because deletion of a question and then evaluating would be
an easier task and would affect less number of candidates this suggestion
cannot be accepted. The only correct remedy is to re-evaluate the answer-
sheets and award marks to the correct answer and accordingly prepare the
result afresh.```
(आयोग का ये वक्तव्य कि प्रश्नों को डिलीट करके पुनः मूल्यांकन करने में कम संख्या में अभ्यर्थी प्रभवित होंगे,ये बात कोर्ट को कदापि स्वीकार नही। इसके सुधार का यही तरीका है कि आंसर की को पुनः संसोधित करके सही प्रश्नों के सभी को न0 देकर मेरिट लिस्ट बनाई जाए।)
*🔴जब तक सरकार इन आपत्ति को दूर न करे तब तक सरकार कोई भी नियुक्ति पत्र जारी न करे।*
⚔टीम को ऐसे कई आदेश मिल चुके हैं जिनसे हम सिंगल पीठ के आदेश (14 प्रश्न हटाने) को मॉडिफाइड करवा पाने में सक्षम है। पूर्ण प्रयास के साथ हम 14 अंको को समान रूप से अभ्यर्थीयों को दिलवाने की क्षमता रखते हैं। टीम कोई संगठन नही है *यह मात्र एक कुछ विधिक लोगों का समूह है जो जीत के प्रति पूर्ण आश्वस्त है। आवश्यकता है तो सिर्फ आप सभी के आर्थिक सहयोग की।*
★हारा वही,जो लड़ा नहीं।।
✍🏼 *वैरागी*💯
रिज़वान अंसारी & टीम


बेसिक शिक्षा विभाग की समस्त खबरों की फ़ास्ट अपडेट के लिए आज ही लाइक करें प्राइमरी का मास्टर Facebook Page