प्राथमिक शिक्षकों को प्रति 5 वर्ष में प्रोन्नति और वेतन वृद्धि के लिए पास करना होगी परीक्षा।

प्राथमिक शिक्षकों को प्रति 5 वर्ष में प्रोन्नति और वेतन वृद्धि के लिए पास करना होगी परीक्षा।:-


नई शिक्षा नीति जून 2017 से वजूद में आ चुकी है। इसी कड़ी में 5 सिताम्बर को हुई कैबिनेट बैठक में राज्य 
सरकार द्वारा शिक्षकों की जवाबदेही तै करने के लिए नियमावली में संशोधन पास कर दिया है। इस संशोधन की अगली कड़ी भी जल्द आने वाली है, जिसमे शिक्षको को प्रोन्नति और वेतन वृद्धि करवाने के लिए शिक्षण कौशल परीक्षा पास करना होगी। ये परीक्षा प्रति वर्ष 5 साल की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षकों के लिए होगी।
आप सब को याद होगा 2015 में जब नई शिक्षा नीति का मसौदा बना था तब ये भी तय किया गया था कि सभी शिक्षामित्र श्रेणी के संविदा शिक्षकों को हटाया जाए और इस क्रम को आगे बढ़ाया गया। आप सब इसके भुक्तभोगी हैं। 1986 के बाद अब 2016 से अब बीजेपी सरकार की नई शिक्षानीति लागू होगी।
आप निश्चिंत रहें शिक्षकों और शिक्षा का बंटाधार होना सुनिश्चित है। बस दिल मज़बूत रखिये।
©रबीअ बहार।